Friday, April 6, 2012

डॉक्टर, दुकानदार, रिक्शावाला .......

मेरी माँ को कुछ हृदय समस्या है. तो उन्हे नियमित जांच के लिए हर महीने डॉक्टर के पास जाना पड़ता है और हर बार डॉक्टर 500 रुपये सलाहकार फीस के रूप में लेता है और हर बार मेरे पिता कहते हैं, "यह डॉक्टर सिर्फ़ 2 मिनट चेक - अप के लिए,  500 रुपये लेता है और मुझे पूरा दिन दुकान पर मेहनत करनी पड़ती है फिर जा कर मैं 500 रुपये ब्ना पाता हू | चलो मैं पिता जी के सामने चुप ही रहता हू |


2-3 दिन पहले मैं अपने पिता की दुकान के बाहर अपने दोस्त के साथ बातचीत कर रहा था | तभी एक रिकक्ष्वाला मेरी दुकान से बाहर आया और बड़बड़ाया "यह दुकानदार सारा दिन कुर्सी पर बैठता है और 500 रुपये कमाता है और मैं पूरा दिन रिक्शा खींचता और 100 रुपये बनाता हू | "


अचानक एक भिखारी जो भोजन के लिए भीख माँग रहा था हमारे आगे से गुज़रा और मैं यह सोचने पर विवश हो गया की अब ये क्या कहेगा |


---- कपिल गर्ग ----

1 comment:

  1. Nice one little i think he gets more than our thinks :) lolz......

    Tips Via Blogging

    ReplyDelete